"i सम्यक" बद्दल थोडक्यात

सम्यक समाजासाठी ६ बिंदूचा संस्कार - स्व अध्ययन - सामुहीकता - समत्व - सेवा - स्वातंत्र्य - संघर्ष.या ६ बिंदूचा संस्काराशी संबधित सर्व क्षेत्रां(अर्थशास्त्र, सेवाकार्य, विचार दर्शन, इतिहास व इतर) वर वाचन-लेखन -चर्चा-कार्यशाळा-सेवा-अनुभव या साठी "i सम्यक"
Our aim is to provide Education to people for social reform. Our thinking is Self Study - Togetherness - Equality - Self less Service - Freedom - Fight for right is the 6 point for Rite of society.

STOCK कैसे ख़रीदे – HOW TO BUY STOCK


दोस्तों, एक सवाल आता है की, अब हम SHARE या STOCK कैसे ख़रीदे ? हमें पता है की शेयर बाजार से हम शेयर या STOCK खरीद सकते है, लेकिन STOCK MARKET से STOCK खरीदने के कितने विकल्प है,आज हम इसी के बारे में बात करेंगे की एक आम आदमी STOCK या SHARE कैसे ख़रीद सकता है ? STOCK कैसे ख़रीदे – HOW TO BUY STOCK ?
किसी भी कंपनी के शेयर या STOCK खरीदने के दो रास्ते है, जो STOCK EXCHANGE  है, –
  1. PRIMARY MARKET (प्राइमरी मार्केट)
  2. SECONDARY MARKET (सेकेंडरी मार्केट)

1.PRIMARY MARKET (प्राइमरी मार्केट) – IPO

जैसा की नाम से ही स्पष्ट हो जाता है, प्राइमरी यानी सबसे पहला MARKET, जहा पे किसी भी कंपनी द्वारा पहली बार शेयर्स, PUBLIC को बेचा जाता है, कंपनी द्वारा पहली बार शेयर जारी किये जाने को हम IPO यानी INITIAL PUBLIC OFFERING के नाम से भी जाना जाता है,
भारत में कोई भी कंपनी, जो PUBLIC को अपने SHARE बेचकर पूंजी प्राप्त करना चाहती है, तो उसे SEBI के नियमानुसार शर्तो को पूरा करते हुए लोगो को, पूंजी प्राप्त करने के लिए SHARE बेचने के समंध में , आम PUBLIC को इस बारे में बताने के लिए IPO ( INITIAL PUBLIC OFFERING) लाना होता है,
आम जनता इस तरह के IPO के जरिये डायरेक्टली शेयर्स या STOCK खरीद सकता है,
IPO से STOCK खरीदने के फायदे –
  1. SHARES के भाव पहले से एक PRICE BAND में तय रहते है, जहा कम से कम और ज्यादा से ज्यादा कीमत पहले से तय होता है ?
  2. SHARES के भाव आमतौर पर LISTED होने से पहले IPO में कम भाव में मिल जाते है ,

2. SECONDARY MARKET (सेकेंडरी मार्केट)

SECONDARY MARKET वास्तव में STOCK EXCHANGE पे होने वाले DAILY और REGULAR TRADE को कहते है, जहाँ शेयर्स हर समय खरीदने और बेचने के लिए उपलब्ध होता है”
एक बार SHARES PRIMARY MARKET के बाद जब STOCK MARKET में लिस्ट हो जाते है, तो सभी के लिए हर समय खरीदने और बेचने के लिए उपलब्ध हो जाते है, और इस ही हम STOCK MARKET या SECONDARY MARKET कहा जाता है,
इस तरह SECONDARY MARKET से शेयर्स या STOCK आम जनता MARKET भाव से SHARE कभी भी खरीद सकती है,
आशा है आप समझ पाए होंगे की शेयर्स खरीदने के लिए सिर्फ दो ही रास्ते है –
  1. PRIMARY MARKET (प्राइमरी मार्केट) – जिसे हम IPO के नाम से भी जानते है,
  2. SECONDARY MARKET (सेकेंडरी मार्केट) – जिसे हम STOCK MARKET के नाम से जानते है.

No comments: